|

चर्चा में

January, 17

मोदी जी की कृपा से भारत अब तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था नहीं रहा

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपने घमंड में चूर हो कर भारत के आर्थिक विकास को पटरी से उतारने में पूरी तरह सफल हुए इस काम को हमारे दुश्मन 1947 के बाद से आज तक नहीं कर पाये थे। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा ताजा अनुमानों के मुताबिक मोदी जी के नोटबंदी के फैसले के कारण भारत की जीडीपी विकास दर का पूर्वानुमान 7.6 प्रतिशत से गिरकर 6.6 प्रतिशत रह गया है। 

SHARE
January, 11

जन-वेदना सम्मेलन में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का भाषण

जन-वेदना सम्मेलन में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का भाषण

SHARE
January, 11

भाजपा और आरएसएस देश की संस्थाओं को कमजोर करना चाहते हैं

भाजपा और आरएसएस देश की संस्थाओं को कमजोर करना चाहते हैं

SHARE
January, 10

जन-वेदना सम्मेलन

11 जनवरी को नयी दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित जन-वेदना सम्मेलन में देश भर से कांग्रेस पार्टी के नेता, कार्यकर्ता और प्रतिनिधि जुटेंगे। मोदी जी के नोटबंदी के फैसले के कारण देश की आम जनता को जिन भारी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है उनके खिलाफ कांग्रेस पार्टी अपने कार्यकर्ताओं के साथ संघर्ष करेगी। इसके अलावा, पिछले ढाई साल में भाजपा सरकार की गरीब विरोधी और जन विरोधी नीतियों को भी इस सम्मेल

SHARE
January, 9

कांग्रेस ने जारी किया पंजाब चुनाव घोषणा-पत्र

आज पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह, अंबिका सोनी, कैप्टन अमरिंदर सिंह, आशा कुमारी, रणदीप सुरजेवाला व अन्य ने आगामी चुनावों के लिए पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी का घोषणा-पत्र जारी किया।

SHARE
January, 6

समय से पहले बजट पेश करने का सरकार का फैसला चुनाव आयोग की ‘आदर्श आचार संहिता’ का उल्लंघन है

8 नवंबर को सत्ता के मद में चूर प्रधानमंत्री मोदी ने 500 रुपये और 1000 रुपये के सारे नोटों को खत्म करने का फैसला किया। भाजपा के दुष्प्रचारकों और चापलूसों की फौज तक खुद को सीमित करने के बाद, प्रधानमंत्री मोदी इसके प्रभाव और जनता के मूड का अनुमान लगाने में नाकाम रहे। जैसे-जैसे दिन बीते उनको समझ में आने लगा कि आम लोगों को अथाह परेशानियां उठानी पड़ रही हैं और लोगों को साफ दिखने लगा कि नोटबंदी काले धन के

SHARE
January, 5

क्या मोदी जी हमें बतायेंगे कि अर्थव्यवस्था में कितना काला धन था?

सभी पुराने 500 और 1000 रुपये के नोटों को जमा करने की अंतिम तिथि 30 दिसंबर, 2016 थी। यह प्रक्रिया 8 नवंबर, 2016 को शुरु हुई थी। उस दिन श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि यह कदम उठाने का कारण काले धन, आतंकवाद और जाली नोटों की आमद को रोकना है। यह भरोसा दिया गया था कि नकदी के रूप में छुपाया हुआ काला धन वापस प्रणाली में नहीं आयेगा।

SHARE
January, 4

प्रधानमंत्री री-पैकेज मंत्री बन चुके हैं

31 दिसंबर को जब मोदी जी ने राष्ट्र को संबोधित किया तो लोग ये जानना चाहते थे कि पिछले 50 दिनों में जो दर्द लोगों ने झेला क्या उसका कोई फायदा मिला, क्या नोटबंदी से बेकार हुई 14.86 लाख करोड़ रुपये की मुद्रा के बड़े हिस्से को काले धन वालों ने जला दिया या फिर गंगा में बहा दिया। लोग प्रधान मंत्री जी से सुनना चाहते थे कि - कल से कोई लाईन नहीं लगेगी।

SHARE
December, 31

नोटबंदी से किया मोदी जी ने बर्बाद करने का फैसला

बुकलेट पढ़ें और जाने कि नोटबंदी से भारत तबाह हो गया, नोटबंदी भारत का सबसे बड़ा घोटाला कैसे है

SHARE
December, 26

नोटबंदी ने भारत के किसानों को बर्बाद किया

मोदी जी के शासन में जिस तरह से हैरतअंगेज और निरर्थक कदम उठाये गये हैं ऐसा भारत के इतिहास में शायद ही कुछ शासकों के शासन में देखने को मिलता है। प्रधानमंत्री की कार्रवाई की क्रूरता का अंदाजा किसानों की बर्बादी से स्वतः ही लगाया जा सकता है। साधारण सा आंकड़ा इस बात को साबित कर देगा। खबरों के अनुसार, जुलाई 2015 में प्याज 25 रुपये किलो बिक रहा था। आज, प्याज थोक बाजार में 1 रुपये किलो भी मुश्किल

SHARE
December, 20

जेटली जी का ये 5000 रुपये वाला नया नियम आम जनता का घोर उत्पीड़न है

जब मोदी जी ने फैसला किया कि नोटबंदी काले धन से निपटने का एक महान नीतिगत निर्णय था, तब कांग्रेस ने उन्हें बताया था कि आधिकारिक आंकड़े बताते हैं कि केवल 6 प्रतिशत काला धन ही नकद में है। लेकिन, मोदी जी ने बात नहीं सुनी। उनका फैसला अनगिनत भारतीयों को बर्बाद कर गया और हमारे 100 से ज्यादा साथियों को अपनी जान गंवानी पड़ी। 

SHARE
December, 15

मोदी जी, कृपा करके संसद को बाधित न करें, लोगों के सवालों का सामना करने की हिम्मत रखिये

30 महीने बीत चुके हैं और श्री नरेन्द्र मोदी व भाजपा अभी भी इस बात को नहीं समझ पा रहे हैं कि लोकसभा में उनके पास बहुमत है। यहां तक कि उनके आचरण और उन दुर्लभ अवसरों पर जब सत्ता पक्ष राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर बहस करने को तैयार हो, पर एक सरसरी नजर डालें तो कोई भी आसानी से भ्रमित हो जायेगा कि आखिर विपक्ष में कौन सा दल है। 

SHARE
December, 14

मेरे पास प्रधानमंत्री के निजी भ्रष्टाचार की जानकारी है और यही कारण है कि वो मुझे संसद में बोलने नहीं दे रहे -राहुल गांधी

जब से प्रधानमंत्री मोदी जी ने देश की अर्थव्यवस्था को अव्यवस्था में पहुंचाने का फैसला किया है, तब से वे आश्चर्यजनक ढंग से संसद में चुप हैं। सरकार मतदान वाले नियम पर लोकसभा में बहस से डर गई है? ऐसा क्यों है?

SHARE
December, 13

450 करोड़ रुपये का हाइड्रो घोटाला - राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने क्या ‘राष्ट्र हित’ में अरुणाचल लूटा?

खुद को ईमानदार और बाकी सबको बेईमान ठहराने वाले भारतीय जनता पार्टी का पाखंडी रवैया निश्चित तौर पर खोखला है। किसी जिद्दी बच्चे की तरह वो पूरे देश में घोटालों की लहर पर सवार अपनी सरकारों के भ्रष्टाचार और देश के लोगों की पीड़ा को देखने तक के लिये तैयार नहीं है। राजस्थान के कोयला खान घोटाले से लेकर मध्य प्रदेश के व्यापम, छत्तीसगढ़ के धान घोटाले और गुजरात के तत्त्कालीन मुख्यमंत

SHARE
 
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, 24, अकबर रोड, नई दिल्ली - 110011, भारत टेलीफोन: 91-11-23019080 । फैक्स: 91-11-23017047 । ईमेल: connect@inc.in © © 2012-2013 अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी। सर्वाधिकार सुरक्षित। नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति