| |

MEDIA

Press Releases

Highlights of the press briefing of Shri Jairam Ramesh, MP 15-4-2017


https://www.youtube.com/watch?v=5FTB_1od9GE&feature=youtu.be

श्री जयराम रमेश ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि कल RBI ने 2016-2017 के आंकड़े प्रकाशित किए और ये दिखाता है कि 2016-2017 वर्ष में सबसे न्यूनतम बढ़ोतरी हुई है बैंक क्रेडिट में। पिछले 60 सालों में इतनी कम गति बैंक क्रेडिट नहीं की नहीं हुई है जितनी 2016-17 में हुई। बैंक क्रेडिट जो अर्थव्यवस्था में जाता है, उद्योग के लिए जाता है, व्यापार के लिए जाता है, उसमें मात्र 5 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। पिछले 60 सालों में ये हमें देखने को नहीं मिला है।

दूसरी बात जो ऊर्जा मंत्रालय के आंकड़े प्रकाशित हुए हैं उनकी वेबसाईट पर, वो दिखाता है कि 2016-17 में पिछले 15 सालों के मुकाबले सबसे कम प्लांट लोड रहा है। इसका ये मतलब होता है कि जितना अधिकतम बिजली उत्पादन किया जा सकता है उसकी तुलना में कितना बिजली उत्पादन हुआ है, वो मानक है प्लांट लोड फैक्टर का। कितनी बिजली उस बिजली घर से उत्पादन हो सकती है और कितनी हुई है। 2016-17 में ये प्लांट लोड फैक्टर कुल 60 प्रतिशत है। पिछले 15 सालों में इतना कम नहीं हुआ। ये 2 आंकड़े RBI के आंकड़े बैंक क्रेडिट के संदर्भ में, ऊर्जा मंत्रालय के आंकड़े प्लांट लोड फैक्टर के संदर्भ में ये साफ दर्शाता है कि जो बार-बार प्रधानमंत्री जी बोलते रहते हैं कि हमारी अर्थव्यवस्था मजबूत हो रही है और इकॉनोमी take off कर गई है, बिल्कुल गलत है। एक बार प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि cash less नहीं, less cash, उसी भाषा में हम प्रधानमंत्री जी को याद दिलाना चाहते हैं कि अगर off take नहीं है तो take off नहीं होगा। क्रेडिट का off take नहीं है, बिजली का off take नहीं है और प्रधानमंत्री जी take off की बात करते हैं।

तीसरी बात और सबसे चिंताजनक बात है- मोदी सरकार के पहले 2 साल में मात्र 4.4 लाख रोजगार उत्पन्न हुए हैं, नए रोजगार। पहले 2 साल के जो आंकड़े आए हैं उनके अनुसार हैं, ये श्रम मंत्रालय के आंकड़े हैं। सेवा के क्षेत्र में, उद्योग के क्षेत्र में, इसकी तुलना में यूपीए – 2 के पहले 2 साल में क्योंकि ये सर्वे श्रम मंत्रालय करता है वो 2008 से शुरु हुआ था। यूपीए-2 के पहले 2 साल में 21 लाख नए रोजगार उत्पन्न हुए। तो यूपीए – 2 के पहले 2 साल में 21 लाख और मोदी सरकार के पहले दो साल में 4.4 लाख, यानि कि यूपीए -2 के कार्यकाल में 5 गुना ज्यादा बढ़ा था।

अगर ये तीन मानक देखें -बैंक क्रेडिट जो गतिहीन है, बिजली प्लांट लोड फैक्टर नीचे गया है। ये अजीब स्थिति है हमारे देश में, बिजली की कमी है। लेकिन बिजली घर में बिजली का उत्पादन नहीं हो पा रहा है और तीसरा यूपीए-2 के पहले 2 साल में रोजगार 21 लाख और मोदी सरकार के पहले 2 साल में 4.4 लाख। तो एक तरफ से सरकार दावा कर रही है कि हम 7 प्रतिशत से भी ऊपर GDP का ग्रोथ हो रहा है और दूसरी तरफ जो असली बात है वो बता रही है कि अर्थव्यवस्था स्थगित हो गई है। जो वृद्धि की दर होनी चाहिए वो दिख नहीं पा रही है। इसका ये नतीजा है कि निवेश की वृद्धि गतिहीन हो गई है। अगर निवेश नहीं होगा तो रोजगार के अवसर नहीं बढ़ेंगे। निवेश का नहीं बढ़ना हमारी अर्थव्यवस्था के सामने सबसे बड़ी चुनौति है और इसके लिए प्रधानमंत्री जी और वित्त मंत्री के पास कोई जवाब नहीं है। जब ये मुद्दा संसद में उठाया जाता है तो इसका कोई जवाब नहीं होता है, बाहर जब उठाया जाता है तब जवाब नहीं होता है और इसलिए आज मैंने सरकारी आंकड़े लिए हैं और सरकारी आंकड़ों से ही जनता के सामने हम ये रख रहे हैं कि बैंक क्रेडिट के आधार पर, बिजली के इस्तेमाल के आधार पर और रोजगार के अवसर उत्पन्न के आधार पर अर्थव्यवस्था चिंताजनक स्थिति में है। निवेश बढ़ नहीं रहा है और इस माहौल में प्रधानमंत्री जी का दावा करना कि हम ये करेंगे, वो करेंगे, अगर निजी धन नहीं है तो डिजी धन कहाँ से आएगा। तो ये बड़ी चिंता के विषय हैं। सरकार को इसे गंभीरता से लेना चाहिए। GST अभी पारित हुआ है। जुलाई से लागू होगा। सरकारी सूत्र, नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने कहा है कि एक-डेढ़ साल लगेंगे GST के असर को देखने में। तो इन हालात में अर्थव्यवस्था की चुनौति को गंभीरता से लेना चाहिए और ये नहीं मान कर चलना चाहिए कि 7 प्रतिशत से ऊपर GDP आ रहा है तो सबकुछ ठीक है। सबकुछ ठीक नहीं है, हालात बिगड़ते जा रहे हैं और कोई सुधार नहीं हो रहा है।

GDP के एस्टिमेशन में काफी महत्वपूर्ण खामियाँ हैं। उसको नजरंदाज किया गया है और GDP की वृद्धि के अलावा और भी मापदंड होते हैं। जैसे जो मैंने उपर कहा क्रेडिट बैंक, बिजली का उत्पादन, रोजगार के अवसर, इन सबको देखा जाए तो वो अगर पिक्चर दिखाता है।  

On a question relating to the parameters, Shri Jairam replied, lowest increases in the bank credit in the last 60 years, lowest Plant Load Factor in the last 15 years, and miniscule addition in the employment in the organized sector, this is the reality. No point of the Prime Minister & Finance Minister taking refuge in figures of GDP of 7-7.5% which is meaningless and frankly the world doesn't believe in India's GDP numbers.

On why the message is not going across to people,  Shri Ramesh said, it takes time for the public to realize that the no food, no employment under MGNREGA, in Rajasthan, 30% of those entitled for wheat rations aren't getting wheat. It'll take time for this message to reach people, for the false claims made by the government to be understood in totality. People are already beginning to feel that there's already no improvement and there is an atmosphere of enormous fear is prevailing in the country. People aren't speaking as freely now as they were speaking 4-5 years back. GST implementation is not  going to be easy, there are a  lots of practical problems and the way it is being  done would worsen the things.

On a question relating to electricity policy, Shri Jairam replied that in UPA tenure, a  huge capacity has been created but in the country there is power shortage, this government is not even utilizing the capacity. This is the great irony, you need power, there is power shortage, you have the capacity and yet your Plant Load Factor is mere 60%, the lowest in last 15 years. How does Mr Piyush Goyal explain this?  That's the reality.
 

On the question relating to Kulbhushan Jadhav, Shri Jairam said both in the Lok Sabha and Rajya Sabha it was said that in the matter of Shri Kulbhushan Jadhav there can't be no politics. Court proceedings under which he has been sentenced in Pakistan, does not inspire any confidence, has no credibility, Consular access has been denied 14 times. Mr Azad in Rajya Sabha reiterated this is the matter on which India stands together.

Indian National Congress
24, Akbar Road, New Delhi - 110011, INDIA
Tel: 91-11-23019080 | Fax: 91-11-23017047 | Email : connect@inc.in
© 2012–2013 All India Congress Committee. All Rights Reserved.
Terms & Conditions | Privacy Policy | Sitemap