| |

MEDIA

Press Releases

Sound byte and youtube link of Shri Randeep Singh Surjewala, I/c Communication Deptt. AICC

Created on Monday, April 17, 2017 12:00 AM

श्री रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कि  कल आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने महिलाओं को न्याय और महिलाओं की समानता की बात पुरजोर तरीके से कही। आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय आदित्यनाथ जी ने एक बार फिर महिलाओं को न्याय, समानता और बराबरी की बात उठाई और ये भी कहा कि जो महिलाओं के न्याय, समनता और बराबरी का विरोध करता है उन्होंने उसकी संज्ञा इतिहास के द्रोपदी चिर-हरण से कर डाली; हमें लगता है ये दोनों बातें सही हैं। इन दोनों बातों में किसी राजनीतिक दल का वाद या विवाद नहीं हो सकता। पर सवाल बातों का नहीं, सवाल मानसिकता का है, सवाल चरित्र का है और सवाल मन की असलियत जानने का है। 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय आदित्यनाथ जी और भाजपा के मोदी जी के साथ सबसे बड़े चेहरे, नीति निर्धारक और पथ-प्रदर्शक बनकर उभरे हैं। उनकी वेबसाईट है- www.yogiadityanath.in (http://www.yogiadityanath.in/lekh/lekh_7793_22021405312122022014.pdf) उसमें उन्होंने सबसे ताजा लेख लिखा है- लेख की श्रेणी में, भारत की महिलाओं के बारे में और उस लेख में उन्होंने भारत की महिलाओं की जो व्याख्या की है उसकी मैं आपको 6 लाईनें पढ़कर सुनाना चाहूंगा, ये बतौर मुख्यमंत्री जी का लिखा लेख है, ये उनकी राय है और जो भाजपा की राय भी है- "हमारे शास्त्रों में जहाँ स्त्री की इतनी महिमा वर्णित की गई है वहाँ उसकी महत्ता और मर्यादा को देखते हुए उसको सदा संरक्षण देने की बात कही गई है, जैसे ऊर्जा को यदि खुला व अनियंत्रित छोड़ दिया जाए तो वह व्यर्थ व विनाशक भी हो सकता है। वैसे ही स्त्री रुप शक्ति को भी स्वतंत्रता की नहीं उपयोगी रुप में संरक्षण और चैनलाईजेशन की आवश्कता है”, ये कह रहे हैं आदित्यनाथ जी जो भाजपा के मुख्यमंत्री है और यहीं नहीं रुके- "स्त्री शक्ति की रक्षा बचपन में पिता करता है, यौवन में पति करता है, बुढापे में पुत्र करता है, इस प्रकार स्त्री सर्वथा स्वतंत्र या मुक्त छोड़ने योग्य नहीं है”। इससे भी ज्यादा चौंकाने वाले शब्द अपने मन और भारतीय जनता पार्टी की देश की महिलाओं को लेकर व्यथा और उसकी परिभाषा का गुणगान वो लेख के 8 वें पन्ने पर करते हैं, जब वो कहते हैं-  "पुरुषों में पुरुषोचित गुणों के साथ-साथ स्त्री के भी गुण आ जाएं तो वो देवता हो जाते हैं, परंतु यदि स्त्रियों में पुरुषों के गुण आ जाएं तो वो राक्षस हो जाती हैं”। भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री जी और उत्तर प्रदेश के भाजपा के और पूरे प्रदेश के भाजपा के चेहरे आदित्यनाथ जी से हम केवल 5 प्रश्न पूछना चाहते हैं इस देश की महिलाओं और 125 करोड़ लोगों की ओर से- 

  1. क्या स्त्री या इस देश की महिलाएं स्वावलम्बी नहीं हो सकती, क्या उनको सदैव भारतीय जनता पार्टी की मानसिकता केवल संरक्षण की मानसिकता और नजरिए से ही देखेगी?
  2. क्या अगर महिला स्वतंत्र हो तो वो व्यर्थ या विनाशक हो सकती है, वेस्टफुल और डिस्ट्रक्टिव हो जाएंगी? इंडिपेंडेंड औरतें वेस्टफुल और डिस्ट्रक्टिव होती हैं, भाजपा की मानसिकता के मुताबिक? क्या स्त्री को स्वतंत्रता की नहीं, जैसे आदित्यनाथ जी कहते हैं- उपयोगी रुप में, इस्तेमाल करने की चीज के रुप में संरक्षण और चैनलाईजेशन की आवश्यकता है, क्या ये भारतीय जनता पार्टी का चाल चेहरा और चरित्र है?
  3. वो कहते हैं कि स्त्री की रक्षा करनी ही पड़ेगी, चाहे वो पिता हो, पति हो या पुत्र हो। इसका मतलब मोदी जी और आदित्यनाथ जी स्त्री अपनी रक्षा करने में असक्षम है, क्या इतनी कमजोर है इस देश की महिला, आप ये मानते हैं?
  4. इतना ही नहीं, वो कहते हैं – स्त्री सर्वथा स्वतंत्र या मुक्त छोड़ने योग्य नहीं। तो क्या इस देश के महिलाओं को एक बार फिर गुलामी की बेड़ियों में रखेंगे क्योंकि आप समझते हैं कि इस देश की महिलाएं जो हैं, वो ना स्वतंत्र रहने योग्य हैं, ना मुक्त रहने योग्य हैं?
  5. अगर स्त्री में पोरुष हो, बहादुर हो, उसमें शौर्य हो, लड़ाई लड़ने की शक्ति हो, बराबरी का दर्जा लेने की शक्ति हो तो योगी आदित्यनाथ जी के मुताबिक वो राक्षस बन जाती है, तो क्या योगी आदित्यनाथ जी, भारतीय जनता पार्टी, आदरणीय मोदी जी, आदरणीय अमित शाह जी बताएंगे कि फिर उनका माँ दुर्गा के बारे में क्या ख्याल है? उनका विचार माँ काली के बारे में क्या है? उनकी माँ चामुण्डा के बारे में क्या सोच है? उनकी नीति, रुख और सोच माँ वैष्णवी देवी के बारे में क्या है? उनकी सोच झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई के बारे में क्या है जो अंग्रेजों से लड़ी और रजिया सुल्तान के बारे में क्या है जो विदेशी ताकतों से लडीं, उनकी नीति और सोच फिर रानी अबक्का देवी के बारे में क्या है जो पुर्तगालियों से लड़ी और रानी वेलु नचियार के बारे में क्या है जो अंग्रेजी सल्तनत से लड़ी और कैप्टन लक्ष्मी सहगल जिन्होंने जंगे आजादी में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की सिपाही के तौर पर जंगे आजादी की लड़ाई लड़ी, उनके बारे में क्या है और इस देश की करोड़ों महिलाओं के बारे में क्या है जो आए दिन इस देश का संघर्ष लड़ती हैं, सेना के पायलट से लेकर सायना नेहवाल के तौर पर रेकेट पकड़ कर, फोगाट जो हमारी बेटी है, कुश्ती के मैदान से क्रिकेट के मैदान तक हमारी महिलाएँ, हमारी स्त्रियाँ उन्होंने हमेशा चाहे वो मुगलकाल था, चाहे वो अंग्रेज की सल्तनत थी, चाहे वो देश की आजादी के बाद का समय था, वो चाहे इंदिरा गाँधी जी थी, चाहे श्रीमती सोनिया गाँधी जी थी, चाहे वो सुषमा स्वराज जी हैं या अन्य नेता ममता बेनर्जी जी जैसी, मायावती जी वो अलग-अलग भूमिका निभाती हैं समाज के अलग-अलग वर्ग में। स्त्रियों का इस तरह से अपमान और उनके बारे में इतनी छोटी सोच केवल भारतीय जनता पार्टी के शिर्षतम नेतृत्व से ये आ सकती है। हमारी केवल दो मांगे हैं- 

पहली आदित्यनाथ जी तुरंत अपनी बेवसाईट से इस लेख को हटाएं और सार्वजनिक तौर से इस देश की महिलाओं से माफी मांगे अपनी अभद्र, असक्षम और न सहन की जाने वाली देश की नारी शक्ति के लिए की गई टिप्पणी के लिए और आदरणीय मोदी जी, आदरणीय अमित शाह जी और पूरी भारतीय जनता पार्टी इस बात के लिए उनकी निंदा करे और उनके खिलाफ निंदा और आलोचना पत्र पारित करें और आगाह करें कि वो कभी इस देश की नारी शक्ति का इस प्रकार से भविष्य में अपमान न करें। नहीं तो इस देश की नारी शक्ति में दुर्गा की ताकत है, माँ काली की ताकत है, माँ संतोषी देवी की ताकत है, माता वैष्णो देवी की ताकत है, वो कभी इस प्रकार के दुर्व्यवहार के लिए भारतीय जनता पार्टी और उसके नेतृत्व को माफ नहीं करेगी। 

Shri Surjewala said Hon'ble Prime Minister yesterday in Odisha spoke about equality for women of India, spoke about respect and regard for women of India and spoke about fighting injustice against women of India irrespective of religion, caste, creed or colour. 

Aditynatha Ji who has now emerged as the mascot of BJP, who has emerged as the policy parameter determinater of BJP along with Modi Ji, today spoke about the same equality for women, the same rights of fair treatment for India's women as also compared those who remain silent with the historical chapter, with the historical incident of 'Daraupdi Cheerharan'. We completely concurr with the fact that women of India irrespective of caste, creed, colour, religion or region, demand our respect, demand equality and demand fair treatment and they deserve all of it not as a matter of any benefit being conferred upon them but as equal citizen in India's progress and onwards march. 

However, what is the mindset of BJP is reflected by the latest writing placed on the website of UP Chief Minister Adityanath Ji – the website address of which is www.yogiadityanath.in (http://www.yogiadityanath.in/lekh/lekh_7793_22021405312122022014.pdf). In this latest article that he has written on India's women, he has basically said five things – and I am translating them for you since I have read them in Hindi. 

He says that India's women always require protection. He further says that as energy cannot be left uncontrolled or independent, women also can never be left uncontrolled, independent or this can lead to wastefulness or destruction of women. That is indeed shocking. He further goes on to say that women and he specifically uses a word which I repeat here 'Stree ko Swatantrata ki nahin, upyogi roop mein sanrakshan aur channelization ki avashaykta hai'. 

The women of this country or this world do not need independence, do not deserve independence but they need to be channelized and controlled like commodities that are used. 

That is more shocking and he does not end here. He thirdly says that a woman always need to be protected be it by her father, be it by her husband or be it by her son and goes on to say that in this manner, a woman can never be independent or a woman does not deserve either independence or right to decide for herself for she always needs protection of men in different shapes and last but not the least the more shocking thing he says that if a man was to ever get the same attributes as a woman of humility of compassion of love, then he is equal to God. But if a woman becomes powerful, if a woman is brave, if a woman adopts what he calls 'Purusharth', or 'Shaurya', then she becomes the devil. 

If this is the attitude and mindset of BJP, then this is reflective in the policies of BJP across the States. Never before in the history of this country, any elected representative of India has ever used such disparaging, dishonourable and distasteful remarks for India's women ever. This is a clear insult not of women of India but of the entire 125 Crore people of India. It reflects BJP's anti-women mindset coming from none less than the BJP's mascot 'Mananiy Adityanathi Ji' and if this is so, has BJP and Modi Ji and Amit Shah Ji and Adityanath Ji forgotten the valour, the sacrifice and the bravery of 'Maa Durga', 'Maa Kaali', 'Santoshi Mata', 'Mata Vaishno Devi', 'Mata Chamunda', Lakshmi Bai Jhansi Ki Rani as also many others like Capt. Lakshmi Sehgal, Rani Abakka Devi, Rani Velunachiyar as also Razia Sultan for our history is laced with sacrifice, valour and bravery of women who have laid down their lives for they are equal not because of charity being conferred by BJP and Adityanath Ji, they are equal because they are able, because they are capable and because they deserve an equal participation in this country and world's progress. 

We have to demand that Adityanath Ji must forthwith apologize to women of India for his disparaging, distasteful and dishonourable remarks against India's women and forthwith withdraw this Article from his website without any condition. 

Secondly, BJP Hon'ble Prime Minister Modi Ji as also BJP President Amit Shah Ji must forthwith condemn such disparaging and distasteful remarks against India's women passed by Adityanath Ji and issue him an advisory after condemning him that never hereinafter will he ever use such distasteful language to dishonor and disrespect India's women power.  


 
Indian National Congress, 24, Akbar Road, New Delhi - 110011, INDIA Tel: 91-11-23019080 | Fax: 91-11-23017047 | Email : connect@inc.in © 2012–2013 All India Congress Committee. All Rights Reserved. Terms & Conditions | Privacy Policy | Sitemap