| |

MEDIA

Press Releases

Highlights of the press briefing of Dr. Ajoy Kumar, Spokesperson, AICC 10-5-2017

डॉ. अजय कुमार ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी अपनी पूरी संवेदना लेफ्टिनेंट उमर फयाज के परिवार को देते हुए भगवान से ये प्रार्थना करती है कि उनके समस्त परिवार को इस मुश्किल की घड़ी में धैर्य और हिम्मत दें। इस कायरता और बर्बरता पूर्वक घटना की जितनी भी भर्त्सना की जाए, वो कम होगी। इस घटना ने पुन: देश के नागरिकों का ध्यान कश्मीर की बिगड़ती स्थिति और लगातार जो वहाँ पर हिंसा का दौर चल रहा है उसकी तरफ खींचा है जो अत्यंत चिंताजनक है। 

आपको मालूम है 2014 से जबसे 56 ईंच छाती की सरकार आई है तबसे कश्मीर में 1 हजार 300 से ज्य़ादा सीजफायर वॉयलेशन हो चुके हैं। उसके अलावा 170 से उपर आतंकी घटनाएं हो चुकी हैं। वर्तमान में जो कश्मीर की स्थिति है वो सचमुच में चिंताजनक है। माननीय प्रधानमंत्री मोदी जी बहुत सारे विषयों में अपनी टिप्पणी देते रहते हैं परंतु देश के आंतरिक सुरक्षा के मामले में उन्हें किसी तरह की चिंता नहीं है। जबसे मनोहर पार्रिकर जी 1 लाख 40 हजार करोड़ का रक्षा मंत्रालय छोड़कर 14 हजार करोड़ बजट वाले गोवा में गए हैं तबसे कोई फुलटाईम रक्षा मंत्री देश में नहीं है। यदि आप कश्मीर से लेकर अरुणाचल से गुजरात तक देखेंगे तो सचमुच में एक जंगल राज जैसा माहौल है, 'भारतीय जंगलराज पार्टी' के शासन में। मैं आपके सामने कुछ उदाहरण पेश करुंगा जिससे ये स्पष्ट हो जाएगा और आपसे अनुरोध करुंगा कि जिस तरह से लगातार विधि व्यवस्था के तंत्र को सरकार के समर्थकों द्वारा चुनौती दी जा रही है, लगातार दौर चल रहा है कि देश की संरचना और विधि व्यवस्था के तंत्र को खत्म करने का, उसके उदाहरण मैं आपको देता हूं। सबसे बड़ी चुनौती ये है कि देश और देश की संस्थानों पर दोतरफा हमला हो रहा है। एक तरफ बीजेपी के कार्यकर्ताओं के द्वारा पुलिस पदाधिकारी के ऊपर हमले हो रहे हैं, उसके अलावा बीजेपी और हिंदू परिषद के अधिकारी को स्वयं को दरोगा घोषित कर चुके हैं, बिना कानूनी आदेश के द्वारा। तीसरे जो भी पदाधिकारी हैं जो अपने कार्य को ईमानदारी से करने का प्रयास कर रहे हैं उनको किसी तरह से कानूनी अड़चन में फंसाने का प्रयास किया जा रहा है, उसका मैं उदाहरण दे रहा हूं। 

29 मार्च 2016, डेल्टा मेघवाल की 17 साल की लड़की का बलात्कार और हत्या, कांग्रेस उपाध्यक्ष श्री राहुल गाँधी जी ने भी इसकी सीबीआई जांच के लिए अनुरोध किया था, लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। 

10 अगस्त 2016 आंध्र प्रदेश, 2 दलितों को पेड़ से बांधकर अमलापुरम ब्लॉक, गोदावरी जिले में मारपीट की घटना, गौररक्षकों के द्वारा। 

फरवरी 2017 में राजस्थान के विधायक चन्द्रकांता मेघवाल और उनके पति और समर्थकों के द्वारा थाने में घुसकर दरोगा जी के साथ मारपीट करना।

मार्च 1 2017 को मुहैना जिले में एक दलित महिला के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना स्थानीय बीजेपी के नेता द्वारा श्री भोजपाल सिंह और उनके साथी द्वारा, इस पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। हाल में अलवर में गौ-रक्षकों के द्वारा दूध के व्यापारी की हत्या एक और घटना।
 
12 अप्रैल 2017 में झारखंड़ जमदेशपुर में, मुख्यमंत्री जी के भाई मूलचंद जी द्वारा मारपीट करना और घर में घुसकर वृद्ध लोगों के साथ मारपीट की।

 मेरठ में पुलिस ने जब चालान काटा तो उस पदाधिकारी के साथ मारपीट की गई। 

जम्मू-कश्मीर में 22 अप्रैल 2017 को बंजारा अनुसूचित जनजाति के लोगों के साथ जिसमें 9 साल की बच्ची भी शामिल है, परिवार के 5 लोगों के साथ मारपीट करके मवेशियों को लूटने की घटना। 

कानपुर में महेन्द्र यादव द्वारा मयंक शर्मा जी, एजीएम कानपुर टोल में, वो इतने भयभीत हो गए कि उन्होंने तुरंत इस्तीफा दे दिया।

हाल में इतनी घटनाएँ देखने को मिली हैं। एक आईपीएस पदाधिकारी चारु निगम को गोरखपुर के एमएलए अग्रवाल साहब द्वारा गाली गलौच करके अभद्र व्यवहार करने का जो वीडियो वायरल हुआ है, वो आपके सामने हैं। मध्यप्रदेश में दीपाली रस्तोगी जी, जो कमीशनर हैं उन्होंने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि स्वस्थ भारत अभियान ठीक तरह से नहीं चल रहा है, उनको नोटिस दे दिया। 

एक आईपीएस ऑफिसर हैं चक्रवर्ती जी मध्यप्रदेश में, जयललिता जी की तमिलनाडु चुनाव में जब उनकी पार्टी की जीत हुई तो उन्होंने फेसबुक पोस्ट में बधाई दी तो उसका स्पष्टीकरण मांगा। 

छत्तीसगढ़ में वर्षा डोंगरे नाम की जेलर हैं, जब उन्होंने सरकार की नीति के बारे में फेसबुक पोस्ट लिखा कि जिस तरह से आदिवासी महिला प्रताड़ित हैं, रिपोर्ट में भी हैं कि बलात्कार हुए हैं तो जब इन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा तो उनको निलंबित कर दिया गया।   

मेरठ में हिंदु परिषद के लोगों ने घर में घुसकर रहने वालों को बाहर खींच कर थाने में लेकर गए और दबाव दे रहे थे कि आप एफआईआर दर्ज करो कि अलग समुदायों के लोग कैसे साथ रह सकते हैं। ये लोग किसी के घर में घुसकर खींच लाते हैं और पुलिस दरोगा या किसी की हिम्मत नहीं है उसको रोकने में। 

सहारनपुर में सीनियर एसपी का निवास सुरक्षित नहीं है। नरेन्र्ं मोदी जी और योगी आदित्यनाथ जी और भारतीय जनता पार्टी के जुमले सुनते-सुनते थक गए हैं कि देश सुधर रहा है। हमें अफसोस है कि ऐसा हो रहा है और मैं अनुरोध करता हूं कि जिस तरह से बेलगाम विधि व्यवस्था की धज्जिय़ाँ उडाई जा रही हैं वो सचमुच चिंता का विषय हैं। सहारनपुर में जिस तरह से दंगे हुए हैं वो कानून व्यवस्था को दिखाता है और भविष्य में स्थिति और भयानक होने वाली है। 

आपको सोचना पड़ेगा कि मोदी जी और बीजेपी प्रशासित प्रदेश में कैसी विधि व्यवस्था की स्थिति है और सचमुच में इन्होंने ये उपाधि प्राप्त कर ली है 'भारतीय जगंलराज पार्टी'। जंगलराज सर्वत्र फैल रहा है इस देश में और अफसोस की बात है कि कुछ लोगों को दिखाई नहीं दे रहा है। कोई गाय लेकर जा रहा है तो उसके साथ मारपीट कर रहे हैं, मवेशी लूट लें, क्या यह सामान्य है? दुग्ध व्यापारी जा रहा है, उसकी हत्या कर दी जाती है वो भी क्या सामान्य लगता है? कोई कपल साथ में रहता है और घर में घुसकर रोड़ पर खींचा जाता है, वो सामान्य लगता है जंगलराज नहीं। ये जंगलराज आ चुका है। जंगल राज भारतीय जनता पार्टी का सफल प्रयोग है, कोशिश है  और आपसे अनुरोध है कि अगर जल्द से जल्द इस पर सतर्क नहीं रहेंगे तो देश की व्यवस्था बिखरने की स्थिति में आ जाएगी। a

Indian National Congress
24, Akbar Road, New Delhi - 110011, INDIA
Tel: 91-11-23019080 | Fax: 91-11-23017047 | Email : connect@inc.in
© 2012–2013 All India Congress Committee. All Rights Reserved.
Terms & Conditions | Privacy Policy | Sitemap