| |

MEDIA

Press Releases

Highlights of the press briefing of Shri Kapil Sibal, MP

 

श्री कपिल सिब्बल ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि, अभी प्रधानमंत्री जी ने एक बड़ा जोरदार भाषण दिया, उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान की जो आर्थिक स्थिति है जिसके बारे में रिजर्व बैंक के गवर्नर ने कहा कि GDP की जो गति है वो 2017-18 में 6.7% रहेगी, उसी संदर्भ में प्रधानमंत्री जी ने भाषण दिया और कहा कि जो लोग हमारी आर्थिक स्थिति की आलोचना करते हैं, Those who spread pessimism in the context of our economy, वो आराम की नींद सोते हैं, ये प्रधानमंत्री जी ने कहा। 


तो आज नींद की बात करेंगे, कि प्रधानमंत्री जी, आप तो आराम से सोते होंगे जब 294 हमारे बच्चे गोरखपुर में, जिनको ऑक्सीजन नहीं मिला, तो आप कैसी नींद सोते होंगे, हमें बता दीजिए जरा? जो हमारे बच्चे जम्मू-कश्मीर में, जिनकी आँखे चली गई पैलेट गन के इस्तेमाल की वजह से, तो आपको क्या नींद अच्छी आती है? जिस जवान की माँ ने अपना बेटा खो दिया, LoC में और जिस बहन ने अपना भाई खो दिया, अब जब लाशें वहाँ LoC से यहाँ आती हैं, तो क्या आप अच्छे सोते हैं? जब हजारों की तादात में हमारे नौजवान और हमारी बेटे और लड़कियाँ बेरोजगार हो रहे हैं, तो क्या आप अच्छी नींद सोते हैं? जब हमारे किसान लोग गढ्ढे खोद कर जमीन के अधिकरण का विरोध करते हैं, क्योंकि उनके पास कोई और साधन नहीं है, कोई और चारा नहीं है, रोज-रोज जीने की कोई और व्यवस्था नहीं है, तो क्या आप अच्छी नींद सोते हैं? जब तमिलनाडू से आकर यहाँ किसान लोग अपने कपड़े उतार कर आपसे आग्रह करते हैं कि आप उनसे मुलाकात करो, तो आप मुलाकात नहीं करते, तो क्या आपको अच्छी नींद आती है? जब आपके ही संसदीय क्षेत्र वाराणसी में, एक आपके ही MLA के पिता की कंपनी अस्पताल में ऑक्सीजन की बजाए नाइट्रस ऑक्साइड, इंडस्ट्रीयल गैस (industrial gas), ऐनिस्थीजिया (Anaesthesia) की जगह देती है और लोगों की मृत्यु हो जाती है, तो क्या आप अच्छी नींद सोते हैं? 


अब असलियत तो प्रधानमंत्री जी ये है कि हिंदुस्तान के लोगों को ऑक्सीजन की जरुरत है। लोक-कल्याण मार्ग में तो बहुत ऑक्सीजन है, वहाँ भी ईर्द-गिर्द बहुत ऑक्सीजन है, लेकिन जब मैं अपने पत्रकार भाईयों और बहनों की तरफ देखता हूं, वहाँ मुझे लगता है कि ऑक्सीजन की कमी है। जिस तरह से Freedom of Speech  पर आक्रमण हो रहा है, वहाँ भी लगता है कि ऑक्सीजन की जरुरत है। जब Airforce1 में हवा में कोई भी उड़ता है तो ऑक्सीजन खुद ब खुद मिल जाती है। लेकिन यहाँ जनता कोशिश कर रही है कि किसी तरीके से सांस ठीक तरह से आए। सोते आप हैं और जनता 24 घंटे जगी रहती है कि कहीं ना कहीं से शायद हमें कुछ साधन जीने का मिल जाए। 

 

प्रधानमंत्री जी भूल जाईए, हर चीज का अपना वक्त होता है और इस बात का मुझे बड़ा दुख हुआ कि अगर कोई आपको सत्य बताए, तो आप उसकी आलोचना करते हैं और कहते हो कि हम लोग अच्छी नींद सोते हैं। हम चाहेंगे कि हिंदुस्तान के सब लोग रात को आराम से सोएं, लेकिन आजकल वो भी होने को नहीं मिलता। जिस तरह से टैक्स के लोग आपके पीछे पड़े हुए हैं, कंपनियों को पीछे पड़े हुए हैं, जिस तरह से छापे मारे जा रहे हैं, जिस तरह से इंकम टैक्स नोटिस दिए जा रहे हैं, जिस तरह से CBI का दुरुपयोग हो रहा है, जिस तरह से सभी जांच एजेन्सी का, ED का दुरुपयोग हो रहा है, तो लोग सो नहीं पाते। तो जब आप ऐसे भाषण देते हो, तो जरा सोच समझ कर दिया करो। 

 

एक बात और, डोकलाम में क्या हो रहा है आज के दिन, ये भी बड़े दुख की बात है कि आप BRICS summit में प्रसिडेंसी के साथ मिले और फिर बड़ी चर्चा हुई यहाँ, हिंदुस्तान में आकर बयानबाजी भी हुई कि सब आराम से जो हमारी थोड़ी बहुत टेंशन है बॉर्डर में, वो ठीक हो जाएगी और वहाँ चीन के लोगों ने withdraw कर लिया है, वो जो उनके equipment’s हैं, वो ले गए हैं और हम लोगों ने भी इस संदर्भ में थोड़ा withdraw किया है और अमूनन आगे बात नहीं होगी और बढ़ेगी नहीं। लेकिन जो खबर मिल रही है कि डोकलाम प्लेटो पर ट्राई-जंक्शन ट्रेक पर 10 किलोमिटर पार, नई सड़क बनाई जा रही है और जो equipment’s का इस्तेमाल हो रहा था chicken neck के, वही equipment’s का इस्तेमाल हो रहा है, और कुछ रिपोर्ट कहते हैं कि 500 जवान, कुछ कहती हैं कि 1000 जवान वहाँ खड़े हैं- चीन के जवान।

और जेनरल रावत ने कहा है कि - The Chinese will be doing incursions and we should be ready for that.  

तो आपकी मीटिंग तो अच्छी हुई, लेकिन उसका नतीजा क्या हुआ और उसके बारे में हो क्या रहा है, आप हमारे देश को बताईए कि सरहद पर, खास तौर पर डोकलाम प्लेटो पर क्या हो रहा है और आपकी क्या नीति रहेगी इस संदर्भ में? आप क्या प्रसिडेंसी को दुबारा साबरमती बुलाएँगे, झुला-झुलने के लिए और फिर उसके बाद अच्छी नींद सोएंगे?

 

अब सबसे दुख की बात तो ये है, कि एक मंत्री हैं भाजपा के जिन्होंने एक अजूबा बयान दिया, जब लोग बेरोजगार हो गए तो एक मंत्री ने कहा कि, at the World Economic Forum -  India Economic Summit - on 4th October 2017, Shri Piyush Goyal said that the companies bringing down their employment is a very good sign because today the youth is not looking to be a job seeker alone, but wants to be a job creator. This is the essence of wisdom. These are the wise statements of a Statesman, who knows the minds of youngsters who have lost their jobs, that how happy they are because instead of job seekers, they will be job creators. So, if a Minister loses his job, he should be happy because he will be a creator. 

 

अरे उस परिवार से पूछो, असम के जो कलाकार हैं हस्तशिल्प में, उन्होंने कहा कि हम रिक्शा चलाएंगे क्योंकि हमारी कलाकारी का काम तो खत्म हो गया है। 

एक तरफ को GST काउंसिल की मीटिंग चल रही है कि किसी तरीके से जो Medium & small scale sector हैं, उनको राहत दी जाए क्योंकि बेरोजगारी ना बढ़ा और दूसरी तरफ इनके मंत्री ये बयानबाजी कर रहे हैं। उनको जरा मैं बता दूं-

just to inform the Minister because he may not be fully informed, that the new Start-Ups in 2016 were 6,000 – the figure is 6,000 - new Start-Ups in 2016 – and in 2017, that has come down to 800. That is the fall of new Start-Ups in this country. 212 Start-Ups have been shut down in 2016, which was 50% higher than 2015. There is not one sector of the economy that is performing well, EXCEPT the rich. Very interesting figure, I will tell you, that despite the slow-down the hundred richest persons in this country, have become richer by 26%. Despite the slow-down. 

 

तो गरीब, गरीबी की मार खा रहा है और अमीर, अमीर होता जा रहा है। ये मोदी जी का हिंदुस्तान है और आराम की नींद सोते हैं मोदी जी। 

चलिए भ्रष्टाचार (corruption) की बात करते हैं, कि मोदी जी हमेशा कहते हैं कि, 'Zero Tolerance Of Corruption' , अरे असम में क्या हुआ, एक इनके सांसद ने कहा कि, और उनका नाम है श्री R.P. Sharma साहब है - तेज़पुर से सांसद है और असम सींचाई मंत्री रंजित दत्ता के बारे में बात कर रहे थे—

 

So, Shri R.P. Sharma, BJP Member of Parliament from Tezpur, said that Mr. Dutta who is Irrigation Minister, regularly take bribes from contractors, he has said it openly. He also said “Our Government came to power due to the trust of the people. We must keep the faith. Assam Chief Minister Shri Sarbananda Sonowal is non-corrupt but he must probe into allegations, allegations that other Ministers take at least 10% commission on every contract.’ 

 

हमने सोचा था कि सरहद के पार एक ही केवल मिस्टर 10% हैं, यहाँ तो लगता है कि असम में कई मंत्री मिस्टर 10% हैं और मोदी जी आराम की नींद सो रहे हैं। 

 

उधर हरियाणा में भ्रष्टाचार की बात चल रही है। 464 एकड़ ज़मीन का लैंड यूज बदल दिया, मास्टर प्लॉन में लैंड यूज बदल दिया। हरियाणा के मास्टर प्लॉन 2031 में, उसका लैंड यूज बदल दिया। 2 साल फाईल सरकार में रही, 5 कंपनियों को फायदा हो रहा है, mutation बदल दी और उन्हीं के लोग 17-18 बीजेपी MLA ने आलोचना की, कि हो क्या रहा है, ये भ्रष्टाचार क्यों हो रहा है, जांच क्यों नहीं हो रही है? ये तो हाल हैं। 294 बच्चे हमारे BRD अस्पताल में, बिना ऑक्सीजन मिले उनकी मृत्यु हो गई।

In Farukkhabad, 49 new born children lost their lives, 14 deaths in Banaras Hindu University. 

और जो इलाहाबाद की बात मैं कर ही रहा हूं, ये जो इन्डस्ट्रीयल गैस दी गई, ऐनिस्थीजिया (Anaesthesia) की जगह, That company is owned by the father of a BJP MLA. So, it is very sad that on every issue, Shri Modi is always in denial. On corruption, he is in denial. On down-turn of economy also he is in denial. People are losing jobs and the Government is in denial. Somehow, they believe, that both life and power is permanent. I think some home truths will be learnt if Modi Ji looks around that - which goes up comes down. 

 

एक प्रश्न पर कि गुजरात में दलित ने मूछें रखी थी, उसको पिटा गया था, उसको लेकर आज SP ने बयान दिया है, क्या कहेंगे, श्री सिब्बल ने कहा कि प्रधानमंत्री जी अच्छी नींद सो रहे हैं। बिल्कुल सही, जिसने मूछ उगाई वो भी एक conspiracy थी। किसने conspire किया भाई उसके परिवार के साथ कि तुमने मूंछ उगानी है, तो उसके आगे तुम गरबा में जाओगे और ऐसा होगा। 

 

एक अन्य प्रश्न पर कि आपने कहा कि देश में इतना सब कुछ रहा है, तो कांग्रेस क्यों सो रही है, श्री सिब्बल ने कहा कि कांग्रेस तो बिल्कुल सो नहीं रही है। जिस तरह से मध्यप्रदेश में विरोध हो रहा है भाजपा का, जिस तरह से राजस्थान में विरोध हो रहा है, जिस तरह से पीछे पंचायतों के रिजल्ट भी आए हैं, जिस तरह से गुजरात में विरोध हो रहा है, लोग सड़क पर आ चुके हैं। सूरत में लाखों की तादात में टेक्सटाईल वर्कर सड़क पर आ गए हैं, तो विरोध तो हो ही रहा है और हम कांग्रेस पार्टी उन सब लोगों के साथ है। 

 

एक अन्य प्रश्न पर कि लोकतंत्र में विरोध करना बड़ा फंडामेंटल राईट है, और NGT ने जंतर-मंतर के वहाँ विरोध पे न बैठने का निर्देश जारी किया है, क्या कहेंगें, श्री सिब्बल ने कहा कि ऐसा लगता है कि NGT समझती है कि जो भी जंतर-मंतर पर बैठेगा, वो वातावरण को दूषित करता है। हालांकि ऐसी कोई बात लगती नहीं मुझे। मुझे तो इस बात में कोई तथ्य नहीं लगता कि इसमें NGT का क्या Jurisdiction है, कि क्या वहाँ Pollution बढ़ रही है जंतर-मंतर में। ऐसे कई फैसले हैं NGT के, एक ही नहीं।

 

एक अन्य प्रश्न पर कि बीजेपी में महाभारत शुरु हो गई है, अब धृतराष्ट्र और शकुनी कौन बनने वाले हैं जो महाभारत के सबसे बड़े खलनायक हैं,  श्री सिब्बल ने कहा कि इसके बारे में आपको ज्यादा मालूम होगा। 

 

गौरी लंकेश पर पूछे गए प्रश्न के उत्तर में श्री सिब्बल ने कहा कि, मैं तो हैरान हूं कि प्रधानमंत्री जी इस बारे में चुप हैं क्योंकि ऐसी संस्था, जो कईं ऐसी हत्याओं में जुड़ी हुई है, पहले भी आपको मालू है कि आरोप लगे हैं, तो इसको भी बैन करना चाहिए। सरकार को बैन करना चाहिए, प्रधानमंत्री जी को बोलना चाहिए, लेकिन उनको तो नींद अच्छी आती है। 

 

एक अन्य प्रश्न पर कि नोटबंदी की आलोचना के बीच वित्त मंत्रालय ने एक प्रेस रिलीज़ जारी की है, क्या कहेंगे, श्री सिब्बल ने कहा कि जैसे अरुण शौरी ने एक बयान दिया है कि - This is थे Biggest Scam, ये बात में आपको कई बार बोल भी चुका हूं। एक साल पहले बोल चुका हूं, कि हिंदुस्तान में अगर कोई सबसे बड़ा घोटाला हुआ है तो वो नोटबंदी का है और वो उजागर होगा, लाज्मी उजागर होगा, तो कोई ना कोई अधिकारी या कोई ना कोई जिस को जानकारी है इन बातों की, वो कभी ना कभी तो सच बोलेगा। 

 

एक अन्य प्रश्न पर कि आप लोग लगातार मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना कर रहे हैं, उसके बावजूद मोदी जी के समर्थक मोदी मंदिर बनवाने की बात कर रहे हैं,  श्री सिब्बल ने कहा कि बिल्कुल मोदी मंदिर तो बनने वाला है क्योंकि राम मंदिर बने या ना बने लेकिन मोदी मंदिर तो जरुर बनेगा। 

 

On the appointment of amicus curie in the assassination case of Mahatma Gandhi, Shri Sibal said I am very happy. I am very happy because you know something more will come out hopefully. Because many people have been in denial even on that issue. 

 

On another question on Rohingya Muslims that the Bangladesh High Commission has said that they are posing a threat, Shri Sibal said, why do you want me to comment on what the Bangladesh High Commission said.

 

On the question of a possible early election in September 2018, Shri Sibal said, that it is not a question of willing or not willing. This requires the consensus of all political parties, especially all those Governments whose terms of the Assembly do not expire by Sept. 2018. So, this is not just a political issue or ‘Bhashan Ki Baat Hai’, it is a constitutional issue and the all these matters will be discussed if at all the Commission wishes to move forward. 

  

Sd/-

(S.V. Ramani)

Secretary

Communication Deptt.

 


Indian National Congress
24, Akbar Road, New Delhi - 110011, INDIA
Tel: 91-11-23019080 | Fax: 91-11-23017047 | Email : connect@inc.in
© 2012–2013 All India Congress Committee. All Rights Reserved.
Terms & Conditions | Privacy Policy | Sitemap