| |

Media

Speeches

Speech at Akbarpur, Kanpur Dehaat, U.P

राहुल गांधी ने वहां उपस्थित कांग्रेस के सभी नेताओ,कांग्रेस कार्यकताओ और वहां मौजूद सभी लोगो का स्वागत और नमस्कार करके अपना भाषण शुरु किया...उन्होंने कहा कि आपने देखा की यह स्टेज बड़ा हो गया है...देखा आपने स्टेज बड़ा किया गया है....स्टेज बड़ा क्यो किया है क्योकि जो आपके नेता है इस स्टेज पर आ पाएं...2004 से दिल्ली में कांग्रेस पार्टी की सरकार है...आम आदमी की सरकार है जब हम चुनाव जीते थे....हमने आपसे 10-15 वायदे नहीं किए...सिर्फ एक वायदा किया था कि जब हमारी सरकार आएंगी तो वो गरीबो की सरकार होगी...पिछड़ो की सरकार होगी...अति पिछड़ो की सरकार होगी....दलितों की....अल्पसंख्यकों की सरकार होगी....और हमारे विपक्षी दलों ने क्या कहा उन्होंने कहा कि इंडिया शाइनिंग...अंग्रेजी में नारा दिया हिंन्दुस्तान चमक रहा...पत्रकारों ने उनसे पूछा कि भईया यह नारा आपको कहा से मिला...उनके नेता ने कहा यह नारा हमें टेलीविजन पर मिला हम टेलीविजन देख रहे थे...एक इश्तिहार देखा...और हमें लगा कि नारा अच्छा था....हमने इसका प्रयोग किया...हिंन्दुस्तान को बता दिया कि हिंन्दुस्तान चमक रहा है...आपके घरों में नहीं आए...आपके गांव में नहीं गए...आपसे पूछा नहीं ऊपर से कह दिया....कि हिंन्दुस्तान चमक रहा है....2004 में आपने इनको समझाया कि भईया आपका हिंन्दुस्तान चमक रहा है...आपके घरों में हिंन्दुस्तान चमक रहा है....आपकी एसी गाडियों में हिंन्दुस्तान चमक रहा है...हमारे गांव में हमारे घरों में बत्ती नहीं बल्व नहीं है...बिजली नहीं है...पानी नहीं है....यहा हमें कोई चमक नहीं दिखाई दे रही है....क्या किया आपने 2004 में कांग्रेस पार्टी की सरकार लाए...हमने क्या किया...सबसे पहला काम मनरेगा हमें लगा गांव तक रोजगार नहीं पहुंचता क्यों नहीं हम गांव तक रोजगार लेकर जाए...शहरों में आसानी से रोजगार मिलता है....अमीर लोगो को आसानी से मिलता है...100 दिन प्रतिदिन 120  रुपए के हिसाब से साल में 12,000 रुपए जो भी मजदूरी करना चाहता है...जो भी रोजगार चाहता है उसको भारत की सरकार गांरटी करके देती है...आप किसी भी प्रदेश में चले जाओ जहां हमारी सरकार है...आंध्रा जाओ...महाराष्ट्रा जाओ...दिल्ली जाओ..हरियाणा जाओ...असम जाओ....मेघालय...मिजोरम जहां भी हमारी सरकार है...अरुणाचल जाओ और पूछों मनरेगा का क्या फायदा होता है...छोटे से छोटे गांव में आपको बताएंगे...मनरेगा से इज्जत मिली सहारा मिला....गांव में पहली बार रोजगार पहुंचा....और आपकी मुख्यमंत्री जी ने क्या कहा....मनरेगा से किसी को फायदा नहीं होता....9 अक्टूबर 2007 ऐसे स्टेज से उन्होंने कहा किसी की फायदा नहीं होगा मनरेगा से....पार्लियामेंट हाउस में विपक्षी नेताओं ने कहा....पैसा नहीं है कहा से आएगा पैसा हमने दिखाया कहा से आएंगा पैसा मनरेगा करा....उसेक बाद किसानो के लिए काम किया....आप जानते हो 60,000 करोड़ रुपए कर्जा माफ किया...किसके लिए हिंन्दुस्तान के किसान के लिए....जो दिन भर काम करता है....पसीना देता है खून देता है....क्या सवाल उठाया संसद में....विपक्षी दलों ने पैसा कहा से आएंगा...हमने दिखा दिया पैसा कहा से आएगा...60,000 करोड़ रुपए दिखा दिए...आपके हाथ कर दिए....बैंक के दरवाजे खोल दिए...बड़ी-बड़ी बातें होती है बड़े-बड़े वायदे होते है...मगर सबको लेकर नहीं चला जाता...आज यहां हमारी अति पिछड़ा की मीटिंग है...क्या प्रतिशत आबादी है आपकी बोलिए...44 प्रतिशत आबादी है क्या मिला आपको....पिछलें 22 सालों में क्या मिला बताओं...क्या मिला बड़े-बड़े भाषण हुए....अंत में क्या मिला...कुछ नहीं मिला....अब हम क्या कह रहे हम कह रहे है...कि इस प्रदेश में प्रगति होगी....तो सबकी प्रगति एक साथ होगी...कोई पीछे नहीं रहेगा...अति पिछड़ा पीछे नहीं रहेगा...अल्पसंख्यक पीछे नहीं रहेगा...गरीब दलित पीछे नहीं रहेगा...हर जात के लोग पीछे नहीं रहेगे....हम किसी एक जात की पार्टी नहीं है....हम किसी एक धर्म की पार्टी नहीं है....हम विकास की पार्टी है प्रगति की पार्टी है....बाकी लोग धर्म के पीछे छुपते है...बीजेपी ने आपसे धोखा किया भगवान का नाम लिया....भगवान को बेंचा कहा भईया...भगवान का नाम है हमें बोट दो....आपने वोट दिया क्या मिला कुछ नहीं....मुलायम सिंह यादव जी आएं....जात की बात की कुछ फायदा नहीं मिला...मायावती जी आई 2007 में आपमें गुस्सा था आपने कहा कि हम मायावती जी को देते है....208 सीट पूरा बहुमत देते है आपने दिया....क्या मिला कुछ नहीं....भ्रष्टाचार मिला...मनरेगा का पैसा भेजा हमने पहुंचा आपके पास....मिला आपको कहा गया लखनऊ में हाथी है....हाथी है लखनऊ में गरीबो का पैसा खाता है हाथी....ऐसा एक हाथी सिर्फ लखानऊ में है...दुनिया में ऐसा एक ही हाथी है.....गरीब जनता का पैसा खाता है....आमतौर से हाथी घास-फूस खाता है...पत्ते खाता है...मायावती ने एक डिजाइन किया है हाथी....गरीबो का पैसा खाता है....क्योकि यह जो पैसा हम आपको भेजते है....यह कांग्रेस पार्टी का दिल्ली की सरकार का नहीं है....यह बीएसपी का नहीं है लखनऊ की सरकार का नहीं है......यह आपका पैसा है आपकी मजदूरी का पैसा है...आपके काम का पैसा है....आपके खून का पैसा आपके पसीने का पैसा है....और जब यह पैसा चोरी होता है....मुझे गुस्सा आता है क्योकि यह आपका भविष्य है....यह आपके बच्चों का भविष्य है....यह यूपी का भविष्य है....नुकसान आपको होता है...नुकसान नेताओं को नहीं होता है.....मंत्रियो को नहीं होता है.....यूपी की जनता को होता है....आपको होता है....आप जाते हो महाराष्ट्रा जाते हो...वहा काम करते हो...महाराष्ट्रा को बदला दिल्ली जाते हो....वही मेट्रो बनाई आपके मजदूरों ने मेंट्रो बनाई....क्या आपके मजदूर उस मेट्रो पर चढ़ सकते है....जा सकते है मेंट्रो पर नहीं....रोजगार चाहिए...यूपी के व्यक्ति को रोजगार चाहिए....तो जाओ महाराष्ट्रा....जाओ हरियाणा....जाओ दिल्ली अपने परिवार को यहां छोड़ो क्योकि आपको यहा रोजगार का हक नहीं है....आपकी सरकार आपको रोजगार का हक नहीं देती....सड़को का हक नहीं है आपको तीन महिनें के लिए सड़क बनती है...फिर टूट जाती है...स्वाथ्य का हक नहीं है आपको....शिक्षा का हक नहीं है आपको....सिर्फ मंत्रियो को हक है....बुंदेलखण्ड पैकेज दिया हमने 3,000 करोड़ रुपए दिए....ट्रैक्टर कहा गए मंत्री के घऱ में....नसीमुद्दीन जी के बच्चों के पास....ट्रैक्टर हमने नसीमुद्दीन जी के बच्चो के लिए नहीं भेजे...आपके लिए भेजे थे....स्वाथ्य का पैसा कहा गया....स्वाथ्य के मंत्री के पास...आज कल वो दिल्ली के चक्कर काट रहा है भाग रहा है....कि भईया हमें बचाओ....हमें बचाओं...हमने चोरी की उत्तर प्रदेश को लूटा अब हमें बचाओं....कोई नहीं बचाने वाला...यूपी के जनता में शक्ति है....आपमें शक्ति है....किसी के पास यहां पर मोबाइल फोन है....यह आपके हाथ में कब आया....चार महींने पहले खरीदा...जिस पॉलिसी से यह मोबाइल आया....वो पॉलिसी 1985 में बनाई गई थी....जब राजीव जी ने 21वीं सदी की बात की...जब राजीव जी ने कंप्यूटर की बात की....जब राजीव जी ने पीसीओ की बात की...यह फोन कब आया...क्योकि राजीव जी के साथ एक और व्यक्ति खड़े थे...उनका नाम मालूम है सैम पित्रोदा...जात मालूम है...विश्कर्मा...बढई....उन्होंने दिया टेलीफोन हिंन्दुस्तान को...उन्होंने ड़ाला टेलीफोन आपके हाथों में...आप लोगो में शक्ति है....अति पिछड़े लोगो में शक्ति है....आप सिर्फ यूपी को नहीं पूरे हिंन्दुस्तान को बदल सकते हो....आपको राजनीति में जगह नहीं दी जाती....इसलिए आप पीछे हो...आपके बारे में सोचा नहीं जाता...इसलिए आप पीछे हो...मैं लंबे वायदे नहीं करता है....मैं आपसे 10-15 वायदे नहीं करुंगा...सिर्फ एक वायदा करुंगा....आपका सिपाही मैं हूं....इस बात को याद रख लो जहां जरुरत पड़ी...मैं तैयार हूं आपके लिए लड़ने के लिए....उत्तर प्रदेश को बदलना है....क्यों बदलना है....क्योकि हिंन्दुस्तान का सबसे बड़ा प्रदेश है....इसके बिना यह देश आगे नहीं जा सकते....और आप ले जाएंगे इसे आगे...हिंन्दुस्तान के गरीब लोग ले जाएंगे....यूपी के गरीब लोग ले जाएंगे...कौन प्रगति लाए यहा पर....आप लाए हो क्यो नहीं उसका फल आपको क्यों नहीं मिलता....मिलना चाहिए उत्तर प्रदेश में मिलना चाहिए....और मिलेंगा...कांग्रेस पार्टी आपको शामिल करेगी राजनीति में शामिल करेगी....आप देखिए कितने नेता खड़े कर दिए है....कितनो लोगो को टिकट दिया है....और यूपी मे बदलाव आएंगा.....कुछ ही महीनो में आएगा....यूपी को आप बदोलोगें...प्रगति लाओगें....और हम सब को शामिल करेगे....सबकी सरकर बनाएंगे....किसी को पीछे नहीं छोड़ेगे....आप सब दूर-दूर से आएं इसके लिए बहुत-बहुत धन्यवाद...जय हिंद  
 
Indian National Congress, 24, Akbar Road, New Delhi - 110011, INDIA Tel: 91-11-23019080 | Fax: 91-11-23017047 | Email : connect@inc.in © 2012–2013 All India Congress Committee. All Rights Reserved. Terms & Conditions | Privacy Policy | Sitemap