| |

Media

Speeches

Speech at Sonmarg

सीपी जोशी साहब, फारुख अब्दुल्ला साहब, उमर अब्दुल्ला साहब, जितेंद्र सिंह साहब, मोहन प्रकाश साहब, सोफुद्दीन सोज जी, ताराचंद दी, केके उपाध्याय, लेफ्टिनेंट जनरल रविशंकर, डीजी बीआरओ तुलाखान साहब, मंत्री मंडल एवं सब मंत्री, विधायक दल और भाईयो और बहनो आप सबका यहा बहुत-बहुत स्वागत। सबसे पहले मै आपका धन्यवाद करना चाहता हूं कि आप यहां दूर-दूर से आए। उमर ने कहा कि मौसम बहुत खराब है, आप खराब मौसम में भी आए। और हमारे जो बीआरओ के अफसर है, जवान है, उनका भी मै धन्यवाद करना चाहता हूं, जो देश को सड़को से जोड़ते है। 

फारुख अब्दुला साहब ने कहा कि उनके पिता शेरे कश्मीर और मेरे परदादा ने हाथ मिलाया था, कश्मीर के लिए हाथ मिलाया था। मै यहां कहना चाहता हूं कि मेरा परिवार भी कश्मीर से आता है, हम भी कश्मीरी  है। और मेरे यहां दो लक्ष्य है। पहला लक्ष्य है कि मै जानता हूं कि आपको काफी मुश्किल सहनी पड़ी और मेरा पहला लक्ष्य कि मै आपसे एक रिश्ता बनाऊ और आपकी जो मुश्किल है, आपका जो दुख है, उसे गहराई से समझू। मैने आपसे कहा कि मै रिश्ता बनाना चाहता हूं, जिंदगी भर का रिश्ता बनाना चाहता हूं, लंबा रिश्ता बनाना चाहता हूं। और जिस प्रकार से मेरे परदादा ने फारुख अब्दुला जी के पिता से हाथ मिलाया था, मै आपके साथ और उमर के साथ हाथ मिलाना चाहता हूं। 

मेरा दूसरा लक्ष्य कश्मीर की जनता, कश्मीर के युवाओं को प्रगति से जोड़ने का है। आज हिंदुस्तान में बहुत तेजी से प्रगति आ रही है। किसी भी प्रदेश में चले जाइए, बहुत तेजी से आर्थिक प्रगती आ रही है, शिक्षा आ रही है और यही चीजे यहां भी होनी चाहिए। जो फायदा बाकी प्रदेशो को मिलता है, उसी प्रकार का फायदा, विकास जम्मू और कश्मीर को मिलना चाहिए। शिक्षा में, स्वास्थ्य में, इंफ्रास्ट्रक्चर में, बिजली में। 

मै यहां पिछले साल आया था और लदाख में मुझे बताया गया कि सर्दी में रास्ता बंद हो जाता है। हमने पूरी कोशिश की और यह पहला कदम है। Z मोड़ का टनल पहला कदम है और इसके बाद (जैसा सीपी जोशी जी ने कहा है) जल्दी से जल्दी दूसरा और बड़ा कदम हम लेने जा रहे है। यह एक निशान है, विकास का निशान है। 

हम चाहते है कि जम्मू-कश्मीर के जो युवा है, वह तेजी से इस विकास में शामिल हो और जो आपकी मुश्किले है। शिक्षा की, स्वास्थ्य की जो मुश्किले है, उनको जल्दी से जल्दी हल किया जाए। मै आपकी बात सुनना चाहता हूं, समझना चाहता हूं। पिछले साल आया था, आज आया हूं और आने वाले समय में और ज्यादा आने की कोशिश करूंगा। 

एक बार फिर आप दूर-दूर से आए, इसके लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। नमस्कार
 
Indian National Congress, 24, Akbar Road, New Delhi - 110011, INDIA Tel: 91-11-23019080 | Fax: 91-11-23017047 | Email : connect@inc.in © 2012–2013 All India Congress Committee. All Rights Reserved. Terms & Conditions | Privacy Policy | Sitemap